Home Yoga Yog mudrasana करे और 10 किलो तक वजन घटाए एक हफ़्ते में...

Yog mudrasana करे और 10 किलो तक वजन घटाए एक हफ़्ते में – yog mudrasana in Hindi – othershealth

Yog mudrasana steps benefits in Hindi
Yog mudrasana in Hindi

पेट में चर्बी घटाए yog mudrasana

मनुष्य का शरीर पुरुष एवं प्राकृति तत्व का अनोखा सनव्य है. इनमें निराकार परमात्मा, आत्मा स्वरुप में व उसकी साकार प्रकृति, मन व तन के रूप में विद्यमान है. मनुष्य चेतन मन एवं तन का सामग्री भूत स्वरूप है. चेतना हमें आत्मा की शक्ति के रूप में प्राप्त होती है इससे हमारा मन हृदय व शरीर संचालित होता है. इससे हमने प्राणशक्ति भी कहा है.

आनंद मनुष्य का सहज स्वभाव है, लेकिन उसे प्राप्त करने के लिए स्वस्थ होना जरूरी है. प्राचीन काल में योगासन इस उद्देश्य की प्राप्ति में सबसे सरलतम जरिया रहा है, जिसके द्वारा हम अपने तन मन को पूर्ण आरोग्य रख सकते हैं योग मुद्रासन हमारे पूर्ण स्वास्थ्य की प्राप्ति में बहुत सहायक है.

योग मुद्रासन विधि yog mudrasana steps in Hindi

पद्मासन में सीधे बैठ जाएं. आंखें बंद कर ले. दोनों हाथ पीछे ले जाकर बाएं हाथ की हथेली से दाएं हाथ की कलाई को पकड़ ले. लंबी गहरी सांस लें. अब धीरे-धीरे श्वास छोड़ते हुए आगे की तरफ झुंके.

रीढ़ को सीधा रखें और झुकते हुए माथे को जमीन पर लगाने की यथासंभव कोशिश करें. शरीर को ढीला छोड़ें दे. लंबी गहरी स्वास लेते रहे. अगर आप मुलबंद उड्डीयान बंद लगा सकते हैं, तो उचित होगा. यह योग मुुद्रासन की पूर्ण स्तिथि है.

जब आपके हाथ पीछे बंधे हुए हैं और माथा जमीन पर लगा है. शरीर पूर्ण विश्राम में है. इस स्थिति में सुविधा अनुसार कुछ मिनट तक रहे. बाद में समय बढ़ाएं. ध्यान रहे कि इस स्थिति में पेट व पंजों पर दबाव आता है. घुटनों में खिंचाव आता है.

अगर दर्द महसूस हो, तो आसन छोड़ दे. अब धीरे-धीरे श्वास भरते हुए वापस पद्मासन में आ जाए. हाथों के बंधन को छोड़ दे और हाथों को सामने जांघों पर रखकर विश्राम करें. यह प्रक्रिया चार-पांच बार दोहराएं. Yog mudrasana आसन के विपरीत मत्स्यासन, उष्ट्रासन एवं भुजंगासन करने से लाभ दोगुना होता है.

Yog mudrasana के लाभ yog mudrasana benefits in Hindi 

पाचन तंत्र के लिए यह आसन बहुत लाभप्रद है. जठराग्नि एवं पाचन क्रिया को सक्रिय करता है. कब्ज, गैस, अपच आदि पेट रोगों को ठीक करता है. लीवर, तिल्ली, अमाशय, छोटी आंत को सबल बनाता है. मधुमेह को नियंत्रित करने में बहुत उपयोगी है.

यह पूरे पाचन अंगों की मालिश करता है एवं उन्हें पुष्ट रखता है. वहीं रीढ़ की हड्डी व स्नायु में खिंचाव पैदा कर स्नायु तंत्र को क्षमतावान बनाता है. इससे पेट की चर्बी कम होती है. आसन के सतत अभ्यास से शरीर में प्राण शक्ति का संचार बढ़ता है.

कौन इसे ना करे: yog mudrasana in Hindi

यह आसन पद्मासन सिद्ध व्यक्ति ही करे. जिन्हें नेत्र रोग, पीठ में दर्द, हृदय रोग या उच्च रक्तचाप हैं, वे इस आसन को ना करे. कोई शल्य चिकित्सा हुई हैं, तो भी नहीं करना चाहिए. गर्भवती के लिए भी इसे करना वर्जित हैं.

नियम yog mudrasana law in Hindi

शौच के बाद खाली पेट, सुबह के समय आसन के लिए सबसे उपयुक्त हैं. इसे भोजन के चार घंटे बाद भी कर सकते हैं. सूर्योदय के एक घंटे पहले से एक घंटे बाद तक ऑक्सीजन एवं प्राणशक्ति वायुमंडल में सबसे अधिक रहती हैं.

 यह समय योगाभ्यास के लिए सबसे उपयुक्त हैं. खुली हवा में, बाग- बगीचे में yog mudrasana आसन करना अतरिक्त लाभ देता है. योगासन के लिए भूमि पर मोटी दरी या योग मैट अवश्य बिछाए, ताकि ऊर्जा पृथ्वी में विसर्जित ना हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

ऐसे फैट को कम कर बनाए फिटनेस – fat diet in Hindi

फैट डाइट - fat diet in Hindi  अक्सर फैट कम करने के लिए हम गलत डायट या उपायों...

कहीं जीवन भर का दर्द ना बन जाए स्पॉन्डिलाइटिस – spondylitis in Hindi

स्पॉन्डिलाइटिस - spondylitis in Hindi spondylitis - आज वर्किंग प्रोफेशनल एक आम समस्या से पीड़ित देखे जा रहे...

सोशल डिस्तांसिंग से अधिक कारगर मास्क | Social Distancing |

Social Distancing - कोरोना वायरस से बचाव के लिए सरकार ने सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है. अब भी...

बचे मलेरिया के डंक से – malaria in Hindi

मलेरिया - about malaria in Hindi malaria in Hindi - गर्मी बढ़ने के साथ ही मच्छरों का प्रकोप...

रखें अपनी सांसों का ख्याल – asthma in Hindi – othershealth

अस्थमा - about asthma in Hindi डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार पूरे विश्व में करीब 25 करोड लोग...