Ayurveda

वृद्धिवाधिका वटी के फायदे, उपयोग और दुष्प्रभाव – Vridhivadhika Vati uses, benefits and side effect in Hindi

Contents hide
2 वृद्धिवाधिका वटी क्या है? – what is Vridhivadhika Vati in Hindi
2.2 वृद्धिवाधिका वटी के फायदे – Vridhivadhika Vati benefits in hindi

वृद्धिवाधिका वटी – Vridhivadhika Vati in hindi

दोस्तो आज हम इस आर्टिकल में वृद्धिवाधिका वटी Vridhivadhika Vati ) के बारे में जानने की कोशिश करेंगे. वृद्धिवाधिका वटी जेल के बारे में आपको विस्तार से जानकारी देने की कोशिश करेंगे हमारे एक्सपर्ट. आज हम वृद्धिवाधिका वटी के उन सभी पहलू पर बात करेंगे, जिसको लोग गूगल पर बहुत अधिक मात्रा में सर्च करते हैं. 

उस सामग्री की पूरी जानकारी लेने की कोशिश करते हैं. हिमालया वृद्धिवाधिका वटी ( Vridhivadhika Vati ) के फायदे, नुकसान, सेवन विधि, तासीर और बनाने की विधि. इन सभी पर विस्तार से जानने की कोशिश करेंगे. बहुत से लोग इसके बारे में जानते तो है लेकिन उन्हें यह पता नहीं होता है कि ये कैसे काम करता है. 

वृद्धिवाधिका वटी क्या है? – what is Vridhivadhika Vati in Hindi

वृद्धिवाधिका वटी ( Vridhivadhika Vati ) एक आयुर्वेदिक औषधि है. जिसका उपयोग मुख्य रूप से उन रोगों में किया जाता है. जिसमे शरीर के अंदर किसी भाग में अनियमित वृद्धि होने लगती है. वृद्धिवाधिका वटी के सेवन से अनियमित वृद्धि को रोकने में काफी मदद मिलती है. 

Vridhivadhika Vati को बनाने में कई प्रकार की जड़ी बूटियों का इस्तेमाल किया जाता है. वृद्धिवाधिका वटी में धातु और खनिज पदार्थ प्रचुर मात्रा में मौजूद होते हैं. जिससे शरीर में इसकी कमी होने पर वृद्धिवाधिका वटी धातु और खनिज पदार्थों को पूर्ति करता है. 

वृद्धिवाधिका वटी के घटक द्रव्य – Vridhivadhika Vati ingredients in hindi 

Vridhivadhika Vati में निम्न घटक का सेवन किया जाता है. 

  • 1. शुद्ध पारद – 2 भाग  
  • 2. सांभर लवण – 1 भाग 
  • 3. समुंद्र लवन – 1 भाग 
  • 4. विद नमक – 1 भाग 
  • 5. काला नमक – 1 भाग 
  • 6. देवदारो – 2 भाग 
  • 7. इलाची का बीज – 1 भाग 
  • 8. वचन – 2 भाग 
  • 9. हापुशा – 1 भाग 
  • 10. पिप्पला मूल – 1 भाग 
  • 11. लहसुन – 1 भाग 
  • 12. कचूर – 1 भाग 
  • 13. विधारा मूल – 1 भाग 
  • 14. शुद्ध गंधक 1 भाग 
  • 15. विदंग 2 भाग 
  • 16. लौह भस्म 1 भाग 
  • 17. ताम्र भस्म 1 भाग
  • 18. कांस्य भस्म 1 भाग 
  • 19. वंग भस्म 1 भाग 
  • 20. शुद्धा हरताल 1 भाग 
  • 21. शुद्धा तूतीया 2 भाग 
  • 22. शंख भस्म 1 भाग 
  • 23. कौड़ी कपारिका भस्म 1 भाग 
  • 24. सोंठ 1 भाग 
  • 25. काली मिर्च 1 भाग 
  • 26. पिप्पली 2 भाग  
  • 27. हरिताकी 1 भाग 
  • 28. विभूति 1 भाग 
  • 29. अमलकी 1 भाग  
  • 30. चाव्य 2 भाग 
  • 31. विदंग 2 भाग

वृद्धिवाधिका वटी के फायदे – Vridhivadhika Vati benefits in hindi

1. वृद्धिवाधिका वटी का सेवन आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है. क्यूंकि इसके सेवन से शरीर में मौजूद अनावश्यक कोशिकाएं और उत्तक ख्तम हो जाते है. जिनके शरीर अनावश्यक कोशिकाएं सक्रिय होती है. उनके लिए इसका सेवन काफी फायदेमंद होता है. 

2. अगर आप इसका लगातार करते है, तो इसके सेवन आपका वात और कफ दोनों नियंत्रित रहते है. वृद्धिवाधिका वटी का सेवन उन व्यक्तियों के लिए काफी फायदेमंद है. जिनका कफ बड़ गया हो. 

3. अगर आपके शरीर में विटामिन और मिनरल्स की कमी है, तो आपको इसका सेवन अवश्य करना चाहिए. इससे आपके शरीर में विटामिन और मिनरल्स प्रचुर मात्रा में बनने लगती है. जिससे आपके शरीर में इसकी कमी नहीं होती है.

4. वृद्धिवाधिका वटी का सेवन थायराइड के रोग में भी किया जाता है. थायराइड के रोग में इसका सेवन काफी फायदेमंद होता है. 

वृद्धिवाधिका वटी के नुकसान – Vridhivadhika Vati side effect in Hindi

  • 1. वृद्धिवाधिका वटी का सेवन बच्चो को कराने से पहले डॉक्टर से अवश्य सलाह लें. 
  • 2. हम आपकी जानकारी के लिए बता दें. कि वृद्धिवाधिका वटी की तासीर गर्म होती है. जिस वजह से गर्भवती महिला को वृद्धिवाधिका वटी का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना चाहिए. 
  • 3. आपको इस बात को भी ध्यान रखना है, कि अगर आपको bleeding disorder की समस्या है, तो इसका सेवन करने से बचना चाहिए. 
  • 4. वृद्धिवाधिका वटी का अधिक मात्रा में सेवन करने से बचना चाहिए. इसका सेवन केवल उतना ही करना चाहिए. जितना डॉक्टर करने की सलाह देते हो. 
  • 5. वृद्धिवाधिका वटी का सेवन डॉक्टर की देखरेख में ही करना चाहिए. बिना डॉक्टर से सलाह के इसका सेवन करने से बचना चाहिए. 
  • 6. वृद्धिवाधिका वटी का सेवन बच्चो को कराने से पहले डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए. 

वृद्धिवाधिका वटी की सेवन विधि – Vridhivadhika Vati Sevan vidhi in hindi

Vridhivadhika Vati के सेवन की बात करे, तो आप वृद्धिवाधिका वटी आप खाना खाने के बाद कर सकते है. आप इसका सेवन एक दिन में 2 से 3 बार कर सकते है. आप वृद्धिवाधिका वटी का सेवन दूध या हल्के गर्म पानी के साथ कर सकते है. आप वृद्धिवाधिका वटी का सेवन सुबह नाश्ता करने के बाद और रात में खाना खाने के बाद कर सकते हैं. 

वृद्धिवाधिका वटी के चिकित्सीय उपयोग – Vridhivadhika Vati uses in hindi 

Vridhivadhika Vati का सेवन कई प्रकार के चिकित्सीय रोगों में किया जाता है. 

  • 1. थायराइड 
  • 2. हर्निया 
  • 3. हाइड्रोसील 
  • 4. ट्यूमर 
  • 5. थायराइड 
  • 6. फाइलेरिया 

वृद्धिवाधिका वटी का मूल्य – Vridhivadhika Vati price

Vridhivadhika Vati एक डब्बे का मूल्य ₹92 rupay हैं. इसके एक डब्बे में कुल 40 वृद्धिवाधिका वटी की गोलियां मौजूद होता है. जिसे आप एक दिन मैं 2 से 3 बार सेवन कर सकते है. वृद्धिवाधिका वटी को आप अपने नजदीकी दवाई दुकान से या किसी भी ऑनलाइन स्टोर से खरीद सकते है. आप अगर वृद्धिवाधिका वटी को ऑनलाइन खरीदते हैं, तो इसे खरीदने पर आपको कुछ छूट भी मिल सकती है. 

वृद्धिवाधिका वटी के बारे में डॉक्टर से पूछे गए सवाल और उनके जवाब 

Q1. वृद्धिवाधिका वटी का सेवन कितने दिनों तक करना चाहिए? 

Ans : वृद्धिवाधिका वटी का सेवन आपको कितने दिनों तक करना चाहिए. इसके लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं. 

Q2. वृद्धिवाधिका वटी का सेवन कब करना चाहिए? 

Ans : वृद्धिवाधिका वटी का सेवन आप एक दिन में 2 से 3 बार कर सकते है. इसका सेवन आपको खाना खाने के बाद करना चाहिए. इसका सेवन आप हल्के गुनगुने पानी के साथ कर सकते है. 

Q3. क्या वृद्धिवाधिका वटी के सेवन से मुझे इसकी लत लग सकती है?

Ans : नहीं. वृद्धिवाधिका वटी का सेवन करने से इसकी लत नहीं लगती है. क्यूंकि इसमें किसी भी तरह के नशीले पदार्थों का इस्तेमाल नहीं किया जाता है. जिस वजह से वृद्धिवाधिका वटी का लत लगने की संभावना बेहद कम है. 

Q4. क्या वृद्धिवाधिका वटी का सेवन शराब के साथ किया जा सकता है?

Ans : नहीं. वृद्धिवाधिका वटी का सेवन शराब के साथ नहीं किया जा सकता है. इससे पाचन तंत्र में समस्या उत्पन होने का खतरा बना रहता है. 

Q5. क्या वृद्धिवाधिका वटी के सेवन के बाद ड्राइविंग किया जा सकता है?

Ans : हां. वृद्धिवाधिका वटी का सेवन करने के बाद ड्राइविंग किया जा सकता है. वृद्धिवाधिका वटी के सेवन से नींद या कोई अन्य समस्या उत्पन्न नहीं होती है. 

Q6. क्या वृद्धिवाधिका वटी का सेवन बच्चो के लिए सुरक्षित है?

Ans : हां. वृद्धिवाधिका वटी का सेवन बच्चे भी कर सकती है. क्यूंकि इसका सेवन करने से बच्चो को कोई नुकसान नहीं होता है. 

Q7. क्या वृद्धिवाधिका वटी का सेवन महिलाएं कर सकती है?

 Ans : हां. वृद्धिवाधिका वटी का सेवन महिलाएं भी कर सकती है. वृद्धिवाधिका वटी का सेवन महिलाओं के लिए पूरी तरह सुरक्षित है, लेकिन गर्भवती महिला को वृद्धिवाधिका वटी का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना चाहिए. 

Q8. क्या वृद्धिवाधिका वटी का सेवन गुनगुने पानी के साथ किया जा सकता है? 

Ans : वृद्धिवाधिका वटी का सेवन हल्के गुनगुने पानी के साथ किया जा सकता है. पानी के साथ इसका सेवन करने किसी तेज़ का हानिकारक प्रभाव नहीं पड़ता है. यह पूरी तरह सुरक्षित है. 

नोट : वृद्धिवाधिका वटी के बारे में कोई और प्रश्न है, तो हमे कॉमेंट बॉक्स में लिख कर जरूर बताएं. हम आपके सभी सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगें. इसके अलावा आप हमे e-mail पर मैसेज भी कर सकते है. 

Related Articles

Back to top button