Home Ayurveda टीबी से उबरने में मददगार है प्राकृतिक चिकित्सा - Ayurvedic Tuberculosis Treatment...

टीबी से उबरने में मददगार है प्राकृतिक चिकित्सा – Ayurvedic Tuberculosis Treatment in Hindi – othershealth

Ayurvedic Tuberculosis treatment in Hindi
Ayurveda

प्राकृतिक चिकित्सा ( Ayurvedic Tuberculosis Treatment in Hindi )

Tuberculosis – आमतौर पर टीबी को फेफड़े की बीमारी से जोड़ा जाता है, लेकिन टीबी हड्डियों, जोड़ो, गले, आंखों, स्किन कहीं भी हो सकती है | तपेदिक का मतलब होता है- पुराना संक्रमण यानी किसी को बहुत क्रॉनिक इंफेक्शन हो जाए, बस पड़ जाए, कीटाणु हो जाए, वह अंग खराब हो जाए | इस रोग के उपचार में प्राकृतिक चिकित्सा भी बहुत सहायक है |

फेफड़ों में टीबी जुकाम होने पर आमतौर पर दवाइयों से इसे दवा दिया जाता है या इग्नोर कर इलाज नहीं किया जाता है | कई बार या बिगड़ कर ब्रोंकल अस्थमा बनता है और फिर अस्थमा बन जाता है |

दमा का उपचार भी ठीक तरह से ना होने पर बलगम बरोंकल ट्यूब में फैल जाता है और उसमें कीटाणु पड़ जाते हैं | इससे फेफड़े का 40-50% हिस्सा काम नहीं करता | इससे फेफड़े का टीबी हो जाता है |

प्रमुख लक्षण ( tuberculosis symptoms in Hindi )

फेफड़ों के टीबी में मरीज के गले, छाती में जमा बलगम से सांस लेने में दिक्कत होती है, चलना फिरना मुश्किल हो जाता है, शरीर में दर्द, कमजोरी रहती है, वजन गिरने लगता है, बार बार बुखार आता है | स्थिति घातक भी हो जाती है |

कारण ( reason of Tuberculosis in Hindi )

टीबी होने का मुख्य कारण हाइजीन कमी है | दूसरा जागरूकता की कमी | आमतौर पर सर्दी-जुकाम, बुखार, बदन दर्द की अनदेखी की जाती है | डायग्नोज ठीक से ना हो पाने के कारण सही उपचार भी नहीं होता और इन्फेक्शन अंदर ही अंदर बढ़ता जाता है |

उपचार ( ayurvedic Tuberculosis treatment in Hindi )

प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति में टीबी के उपचार के लिए सबसे पहले यह देखा जाता है कि टीबी किस स्टेज में है | इस आधार पर उपचार विधि व औषधि अपनाई जाती है |

सन बाथ और मद थेरेपी

मरीज को धूप में लिटा कर सन बाथ दिया जाता है | फिर हॉट मद थेरेपी दी जाती है |औषधी गुणों से भरपूर सूर्य की किरणों से चार्ज की गई मिट्टी ली जाती है, जिसमें लौंग, सोंठ, कपूर और दालचीनी को मिलाया जाता है | इस मिट्टी को कढ़ाई में हल्का गर्म करके माथे, पेट और छाती पर लगाकर, कंबल ओढ़ा कर कुछ लेटाया जाता है | इससे Tuberculosis का बुखार ठीक हो जाता है और आराम मिलता है |

शोधन क्रिया

अगर Tuberculosis प्रारंभिक अवस्था में है, तो इन्फेक्शन को दूर करने के लिए शोधन किर्या की जाती है | इसे डिटॉक्सिफिकेशन कहते हैं | इसके लिए कुंजल या जल नेती क्रिया करवाई जाती है |

इसमें नमकीन गुनगुना पानी एक तरफ की नाक से डालकर दूसरी तरफ से निकाला जाता है | इससे नाक की गंदगी साफ होती है | इसके अलावा वस्त्र पट्टी क्रिया के नियमित अभ्यास से सारा बलराम, पीठ और फेफड़े के अंदर की गंदगी धीरे-धीरे निकल जाती है | मरीज इसे ना कर पाए, तो उसे दिन में कई बार गुनगुना पानी पीने की सलाह दी जाती है |

स्टीम बाथ

मरीज को मुंह और नाक के माध्यम से स्टीम थेरेपी 5 से 15 मिनट तक दी जाती है | पतीले में पानी लेकर युक्लिप्तिस के पत्ते या युक्लीपिट्स ऑयल की 4-5 बूंदे नाक में डाली जाती है |

उसे 4 तरह से गहरी सांस के साथ स्टीम लेने के लिए कहा जाता है | इससे स्वसन तंत्र में मौजूद बलगम पिघलने लगती है और बह कर निकल जाती है | मरीज को सांस लेने में आसानी हो जाती है |

स्टीम थेरेपी बलगम में मौजूद इन्फेक्शन फैलाने वाले बैक्टीरिया का सफाया करने में भी मददगार है | इस प्रक्रिया से पुरानी सूखी खांसी, इन्फेक्शन दूर हो जाते हैं और बुखार ठीक हो जाता है | टीबी भी 1 से 3 महीने में जड़ से ठीक हो जाता है |

हाफ फुट बाथ

मरीज को स्टूल या तख्त पर बिठाकर गुनगुना पानी से भरे बड़े टैब में टखने से ऊपर पिंडली तक पानी में पैर डुबोने के लिए कहा जाता है | उसे सिर से पैरों तक एक बड़ी चादर से इस तरह ढका जाता है कि पूरे शरीर की भाप से सिकाई हो | हाफ फुट बाथ शरीर में ऊष्मा पैदा करता है और सर्दी जुकाम दूर करता है |

प्राणायाम

रोज प्राणायाम करने से खून की गंदगी, फेफड़े, पेट या शरीर की गंदगी सांस के माध्यम से धीरे-धीरे बाहर निकलती है | प्राणायाम से 5 से 10 गुना ज्यादा शुद्ध हवा ले पाते हैं और रक्त में भी ऑक्सीजन का स्तर बढ़ जाता है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

ऐसे फैट को कम कर बनाए फिटनेस – fat diet in Hindi

फैट डाइट - fat diet in Hindi  अक्सर फैट कम करने के लिए हम गलत डायट या उपायों...

कहीं जीवन भर का दर्द ना बन जाए स्पॉन्डिलाइटिस – spondylitis in Hindi

स्पॉन्डिलाइटिस - spondylitis in Hindi spondylitis - आज वर्किंग प्रोफेशनल एक आम समस्या से पीड़ित देखे जा रहे...

सोशल डिस्तांसिंग से अधिक कारगर मास्क | Social Distancing |

Social Distancing - कोरोना वायरस से बचाव के लिए सरकार ने सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है. अब भी...

बचे मलेरिया के डंक से – malaria in Hindi

मलेरिया - about malaria in Hindi malaria in Hindi - गर्मी बढ़ने के साथ ही मच्छरों का प्रकोप...

रखें अपनी सांसों का ख्याल – asthma in Hindi – othershealth

अस्थमा - about asthma in Hindi डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार पूरे विश्व में करीब 25 करोड लोग...