Ayurveda

स्फटिका भस्म के फायदे, उपयोग और दुष्प्रभाव – sphatika bhasma uses, benefits and side effect in Hindi

Contents hide
2 स्फटिका भस्म क्या है? – what is sphatika bhasma in hindi

स्फटिका भस्म – sphatika bhasma in hindi

दोस्तो आज हम इस आर्टिकल में स्फटिका भस्म के बारे में जानने की कोशिश करेंगे. sphatika bhasma के बारे में आपको विस्तार से जानकारी देने की कोशिश करेंगे हमारे एक्सपर्ट. आज हम स्फटिका भस्म के उन सभी पहलू पर बात करेंगे, जिसको लोग गूगल पर बहुत अधिक सर्च करते हैं. या उस सामग्री की पूरी जानकारी लेने की कोशिश करते हैं. स्फटिका भस्म के फायदे, नुकसान, सेवन विधि, तासीर और बनाने की विधि. इन सभी पर विस्तार से जानने की कोशिश करेंगे.

स्फटिका भस्म क्या है? – what is sphatika bhasma in hindi

स्फटिका भस्म ( sphatika bhasma ) एक आयुर्वेदिक औषधि है. जिसका उपयोग आंतरिक और बाहरी रोग में किया जाता है. इसका सेवन मुख्य रूप से फेफड़ों संबंधित समस्याओं में किया जाता है. इसका उपयोग कफ संबंधित समस्या, सांस लेने में दिक्कत, रक्त प्रदर, सीने के दर्द में, पुरानी से पुरानी खांसी में, बुखार के करने होने वाली उल्टी में, उल्टी में खून आने में और मशिक धर्म के दौरान होने वाली समस्या में इसका उपयोग किया जाता है. 

इन्हे भी पड़े : पतंजलि लिंग वर्धक तेल के फायदे, उपयोग और दुष्प्रभाव – patanjali ling vardhak oil uses, benefits and side effect in Hindi

स्फटिका भस्म के चिकित्सीय उपयोग – sphatika bhasma uses in hindi

sphatika bhasma का चिकित्सीय उपयोग निम्न चिकित्सीय समस्याओं में किया जाता है. 

  • 1. काली खांसी. 
  • 2. छाती का दर्द.
  • 3. उल्टी. 
  • 4. बुखार के कारण होने वाली उल्टी में. 
  • 5. पेट दर्द.
  • 6. गुदा में रक्तस्राव
  • 7. मासिक धर्म
  • 8. मलेरिया
  • 9. बवासीर 
  • 10. घाव 
  • 11. खुजली 
  • 12. खाज
  • 13. कान का निर्वान
  • 14. रक्त स्राव
  • 15. रक्तपरदर

स्फटिका भस्म के घटक द्रव्य – sphatika bhasma ingredients in hindi

स्फटिका भस्म में निम्नलिखित घटक द्रव्य का इस्तेमाल किया जाता है. 

  • 1. शुद्ध फिटकरी ( sphatika ) 

स्फटिका भस्म बनाने की विधि – sphatika bhasma making vidhi

स्फटिका भस्म बनाना बहुत आसान है. आज हम आपको स्फटिका भस्म को बनाने का तरीका बताएंगे. कि कैसे आप आसानी से इसको घर पर बना कर इसका सेवन कर सकते हैं. नीचे हम आपको अच्छी तरह से समझाने को कोशिश करेंगे.

पहली विधि : सबसे पहले आपको फिटकरी को छोटे छोटे टुकड़ों में कर के उसे अच्छे तरीके से साफ कर लेना है. ताकि कोई भी गंदगी इसमें ना रहे. उसके बाद इन टुकड़ों को आपको मिट्टी के बर्तन में डाल कर इसे कपट मिट्टी कर लेते हैं. इसके बाद गजोपुट करने के पश्चात स्फटिका भस्म तैयार कर ली जाती है. 

दूसरी विधि : दूसरी विधि में भी आपको पहले फिटकरी को धो कर अच्छे से साफ कर लेना है. इसके बाद आपको इसको रोटी पकाने वाले तवे पर इसको गरम करके फुला देना है. उसके बाद इसे है पीसकर ही भस्म बनाया जाता है.

इन्हे भी पड़े : पतंजलि लिंग वर्धक टैबलेट के फायदे, उपयोग और दुष्प्रभाव – patanjali ling vardhak tablet uses, benefits and side effect in Hindi

स्फटिका भस्म के फायदे – sphatika bhasma benefits in hindi

स्फटिका भस्म के फायदे बहुत है. अगर आप इसका सही से इस्तेमाल करते है. तो यह आपके लिए बहुत लाभकारी है. 

काली खांसी में स्फटिका भस्म के फायदे – sphatika bhasma benefits in hindi

अगर आप खांसी से परेशान है. तो आपको स्फटिका भस्म का सेवन अवश्य करना चाहिए. इसके सेवन से पुरानी से पुरानी खांसी से भी छुटकारा पा सकते हैं. इसमें कुछ ऐसे गुण पाए जाते है. जिससे खांसी रोकने में बहुत मदद मिलती है. बहुत समय तक खांसी होने से उल्टी भी होने लगता है. ऐसे में अगर आप इसका सेवन करते हैं. तो स्फटिका भस्म के फायदे बहुत होते है. 

निमोनिया में स्फटिका भस्म के फायदे – sphatika bhasma benefits in hindi

अगर आप को निमोनिया ही गया है, तक आपको इसका सेवन अवश्य करना चाहिए. इसके सेवन से निमोनिया में काफी राहत मिलती है. निमोनिया में फेफड़ों के आसपास सूजन आ जाती है. ऐसे में अगर आप इसका सेवन करते है, तो फायदा अवश्य होता है. 

पेट के दर्द में स्फटिका भस्म के फायदे – sphatika bhasma benefits in hindi

दूषित खाना खाने और दूषित पानी पीने से हमारे पर में बहुत सी समस्याएं उत्पन्न हो जाती है. जिससे हमें काफी परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है. ऐसे में अगर आप स्फटिका भस्म का सेवन करते है, तो यह पेट में मौजूद सभी विषैले पादर्थ को नष्ट करने में काफी मदद करता है. 

इन्हे भी पड़े : हिमालय कॉन्फीडो टैबलेट के फायदे, उपयोग और दुष्प्रभाव – Himalaya Confido Tablet uses, benefits and side effect in Hindi

स्फटिका भस्म के नुकसान – sphatika bhasma side effect in Hindi

स्फटिका भस्म का सेवन करते वक्त कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है. ऐशा ना करने से यह आपके की नुकसानदेह भी हो सकता है. इसका सेवन करते वक्त निम्न सावधानी बरतनी चाहिए. 

  • 1. स्फटिका भस्म का सेवन हमेशा डॉक्टर की देख देख में को करना चाहिए. 
  • 2. इसे आपको बच्चो की पहुंच से दूर रखना चाहिए. 
  • 3. इसका सेवन हमेशा सीमित मात्रा में ही करना चाहिए. बिना डॉक्टर के सलाह के इसका सेवन अधिक नहीं करना चाहिए. 
  • 4. इसका सेवन उन महिलाओं के लिए हानिकारक है. जो गर्भावस्था मैं है. या स्तनपान करती है. 
  • 5. इसका सेवन 3 महीने से अधिक नहीं करना चाहिए. 
  • 6. इसका सेवन खाली पेट नहीं करना चाहिए. खाली पेट इसका सेवन करने से आपके पेट में जलन कि समस्या उत्पन्न हो सकता है.

स्फटिका भस्म रासायनिक संरचना – sphatika bhasma uses in hindi

जैसा कि आप सभी जानते है, इसका मुख्य घटक फिटकिर है. और यह पूरी तरह फितकिरी से ही बनाया जाता है. आप की जानकारी के लिए बता दे. फिटकरी एक रंगहीन पदार्थ है. फिटकरी का कोई रंग नहीं होता है. इसका रासायनिक नाम पोटैसियम एल्यूमिनियम सल्फेट है. और इसके रासायनिक सूत्र की बात करे, तो इसका रासायनिक सूत्र kai(so4)2. 12h20 है. यही स्फटिका भस्म की रासायनिक संरचना है.

इन्हे भी पड़े : लिंग पर नारियल तेल लगाने के फायदे और नुकसान – ling par nariyal tel lagane ke fayde aur nukshan

स्फटिका भस्म के औषधीय गुण – sphatika bhasma ke fayde 

  • 1. स्तम्मक
  • 2. रक्तस्राव को रोकने में मदद करता है. 
  • 3. किर्मिनाशक
  • 4. डस्ट रोकने में मदद करता है. 
  • 5. खुजली खतम करने वाला. 
  • 6. ज्वर नाशक. 
  • 7. कफ की समस्या दूर करने वाला. 
  • 8. जीवाणु को खतम करने वाला.

स्फटिका भस्म की सेवन विधि – sphatika bhasma sevan vidhi

स्फटिका भस्म का सेवन किसी भी उम्र का व्यक्ति या महिला कर सकती है. 

  • 1. बच्चे एक दिन मैं इसका सेवन 60 से 250 मिलीग्राम तक कर सकते है. 
  • 2. वयस्क व्यक्ति एक दिन मैं 100 से 500 मिलीग्राम तक कर सकते है. इसका सेवन हमेशा खाना खाने के बाद करे. 
  • 3. अधिक मात्रा मैं आप इसका सेवन एक दिन में 1500 मिलीग्राम तक कर सकते है. इससे अधिक इसका सेवन ना करे. या अपने डॉक्टर से सलाह लें. 

स्फटिका भस्म का मूल्य – sphatika bhasma price 

sphatika bhasma के मूल्य की बात करे, तो इसके 15ग्राम शीशी की कीमत ₹69 rupay है. और यह आपको कहीं भी किसी भी दवाई दुकान पर मिल जाएगा. या फिर आप इसे किसी भी ऑनलाइन स्टोर से खरीद सकते है. आप की जानकारी के आप को बता देना चाहते हैं, स्फटिका भस्म का निर्माण कई कंपनियां करती है. जैसे – डाबर और बैद्यनाथ.

इन्हे भी पड़े : लिंग पर वेसलीन लगाने के फायदे और नुकसान – ling par vaseline lagane ke fayde aur nukshan

स्फटिका भस्म के बारे में डॉक्टर से पूछे गए सवाल और उनके जवाब 

Q1. स्फटिका भस्म का सेवन कितने दिनों तक करना चाहिए? 

Ans : स्फटिका भस्म का सेवन लगातार 3 महीनों तक किया जा सकता है. इससे अधिक सेवन करने से पहले डॉक्टर से संपर्क करें. 

Q2. स्फटिका भस्म का सेवन कब करना चाहिए? 

Ans : स्फटिका भस्म का सेवन आप खाना खाने के बाद कर सकते हैं. खाना खाने से पहले इसका सेवन नहीं करना चाहिए. खाना खाने से पहले इसका सेवन करने से पेट की कुछ समस्या उत्पन्न हो सकती है. जिससे आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. 

Q3. क्या स्फटिका भस्म का सेवन शराब के साथ किया जा सकता है?

Ans : नहीं. स्फटिका भस्म का सेवन शराब के साथ नहीं किया जा सकता है. ऐशा करने से आपके शरीर को पहुंच सकती है. जिससे आपको तकलीफ़ होगी. इसलिए इसका सेवन शराब के साथ ना करके हल्के गुनगुने पानी के साथ करना चाहिए.  

Q4. क्या स्फटिका भस्म के सेवन से मुझे इसकी लत लग सकती है? 

Ans : नही. स्फटिका भस्म सेवन से किसी प्रकार की लत नहीं लगती है. क्यूंकि पूरी तरह से एक आयुर्वेदिक औषधि है. आयुर्वेदिक औषधि होने के कारण इसकी लत लगने की संभावना बहुत कम है. फिर भी अगर आपको ऐशा लगे, तो आप तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें. 

इन्हे भी पड़े : लिंग पर देसी घी लगाने के फायदे और नुकसान – ling par desi ghee lagane ke fayde aur nukshan

Q5. क्या स्फटिका भस्म का सेवन करने के बाद ड्राइविंग किया जा सकता है? 

Ans : हां. स्फटिका भस्म ( sphatika bhasma ) का सेवन करने के बाद ड्राइविंग किया जा सकता है. क्यूंकि स्फटिका भस्म का सेवन करने से नींद या नशा नहीं आता है. 

Q6. क्या इसका सेवन बच्चे भी कर सकते हैं? 

Ans : हां. इसका सेवन बच्चे भी कर सकते हैं. क्यूंकि स्फटिका भस्म ( sphatika bhasma ) का सेवन बच्चो के लिए पूरी तरह से सुरक्षित है. 

READ MORE :sphatika bhasma uses, benefits and side effect in Hindi

इन्हे भी पड़े : लिंग पर सरसो तेल लगाने के फायदे, नुकसान और लगाने का सही तरीका – ling par sarso tel lagane ke fayde aur nukshan

Related Articles

14 Comments

  1. I just could not depart your website prior to suggesting that I extremely loved the usual information a person provide for your guests? Is gonna be again continuously to check up on new posts Caitlin Jdavie Clarine

  2. Thank you so much regarding giving us an update on this matter on your website. Please know that if a fresh post appears or when any changes occur about the current submission, I would be interested in reading more and focusing on how to make good usage of those methods you discuss. Thanks for your efforts and consideration of other folks by making this web site available. Minne Claiborn Jacky

  3. Magnificent beat ! I would like to apprentice while you amend your site, how can i subscribe for a blog website? The account aided me a acceptable deal. I had been a little bit acquainted of this your broadcast offered bright clear concept| Dee Dee Bat Macur

  4. I have learn several good stuff here. Certainly worth bookmarking for revisiting. I wonder how a lot attempt you set to create the sort of excellent informative site. Edyth Sebastien Dorita

  5. Do you have a spam issue on this blog; I also am a blogger, and I was wondering your situation; we have developed some nice practices and we are looking to exchange techniques with others, be sure to shoot me an e-mail if interested.| Elberta Chase Krucik

  6. As I website possessor I believe the content material here is rattling great , appreciate it for your efforts. You should keep it up forever! Best of luck. Krystalle Alvin Bevan

  7. You should have said it always rains in Oregon. Thanks for nothing David. You could have said Antifa will eat your children. Kimberley Mischa Neu

  8. Way cool! Some very valid points! I appreciate you writing this post plus the rest of the website is also very good. Marjy Luciano Matthei

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button