Pubg खेलने के बुरे प्रभाव जो आपको जरूर जानने चाहिए


आज के समय में लोगों को मोबाइल गेमिंग का बहुत शौक हो गया है और इस आर्टिकल में हम बात करने जा रहे हैं मोबाइल गेमिंग में सबसे ज्यादा एडिक्शन करने वाले गेम के बारे में जिसका नाम है पबजी इसके बारे में तो आपने सुना ही होगा जो प्लेयर बनाम प्लेयर होता है। प्लेयर शूटर गेम, हालांकि यह गेम काफी बेहतर है, जिसकी वजह से लोग घंटों अपना समय बिताते हैं लेकिन इसके साइड इफेक्ट के बारे में नहीं जानते।

मूल रूप से इस लेख में हम पब गेम के साइड इफेक्ट के बारे में जानेंगे जो हर गेमर को पता होना चाहिए ताकि आप इससे होने वाले नुकसान से बच सकें।

युवा पीढ़ी; सेलिब्रिटी हों, YouTubers हों, कॉलेज हों या स्कूली छात्र, हर कोई इस गेम का फैन हो गया है। लेकिन, यह शिक्षकों, माता-पिता और उन लोगों के लिए भी चिंता का कारण बन गया है, जिन्हें इस खेल की लत है। तो आप किस तरफ हैं? वह जो इसे खेल रहा है या वह जो किसी को इसका आदी देख रहा है? पक्ष जो भी हो, इस खेल के बारे में कुछ ऐसी बातें जानना आवश्यक है जो वास्तव में आपको कई तरह से प्रभावित कर सकती हैं।

PubG क्या है?

यह एक बहु-खिलाड़ी या एकल खिलाड़ी खेल है, जो युद्ध के मैदान के प्रारूप में खेला जाता है। खेल एक युद्ध के मैदान में खेला जाता है जहां 100 खिलाड़ियों को एक संलग्न स्थान में गिरा दिया जाता है जहां उन्हें आखिरी खड़े खिलाड़ी बनने और “चिकन डिनर” प्राप्त करने के प्रयास में हथियारों, चिकित्सा आपूर्ति और अन्य संसाधनों की तलाश करनी चाहिए। इस तरह से विजेता टीम को इस खेल में “विजेता विजेता चिकन डिनर” के रूप में जाना जाता है।

इस गेम को पूरे डिजिटल प्लेटफॉर्म पर लोगों की मिली-जुली प्रतिक्रिया मिली है। विशेषज्ञों ने दावा किया है कि खेल के अपने दुष्प्रभाव होते हैं और यह व्यक्ति के दिमाग को सकारात्मक और नकारात्मक दोनों तरह से प्रभावित करता है। खेल को चरम मामलों में असामाजिक या हिंसक व्यवहार प्रदर्शित करने के लिए कहा जाता है और इसे समय की बर्बादी भी माना जाता है। यह किसी व्यक्ति के करियर, शारीरिक गतिविधि और सक्रियता को भी प्रभावित करता है।

PUBG के दुष्प्रभाव

यहां पबजी के दुष्प्रभाव हैं जो किसी के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर पड़ते हैं जिनसे आपको सावधान रहना चाहिए।

1. आंखों और दृष्टि में कमजोरी

pubg side effects

इस गेम को ज्यादा देर तक खेलना आपकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। लंबे समय तक स्क्रीन को देखना खतरनाक हो सकता है और इससे माइग्रेन और सिरदर्द हो सकता है। इसलिए लगातार स्क्रीन पर घूरना स्वस्थ आदत नहीं माना जाता है और इस गेम को लगातार खेलने से आंखें कमजोर हो सकती हैं।

2. गर्दन का दर्द और सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस

अध्ययनों से यह भी पता चला है कि असमान स्थिति और मुद्राओं में बैठना आपकी गर्दन के लिए हानिकारक हो सकता है। इस खेल को खेलने और अस्वस्थ मुद्रा में बैठने से अंततः सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस और गर्दन में गंभीर दर्द हो सकता है।

3. थकान और कमजोरी

pubg side effects

इस खेल को लगातार घंटों तक खेलने से लगातार बैठे रहना और लंबे समय तक कुछ न खाना या कुछ भी नहीं खाना पड़ सकता है। आप न केवल भोजन का त्याग करते हैं, बल्कि सोने और व्यायाम का समय भी देते हैं जिससे थकान, चक्कर आना और उनींदापन हो सकता है।

4. मन और मनोवैज्ञानिक प्रभाव

खेल का दिमाग पर गंभीर प्रभाव पड़ता है क्योंकि यह एक गंभीर लत लगती है। लोग गेम को चेन मोड में खेलते हैं और इस तरह यह इस गेम को अधिक से अधिक खेलने की इच्छा को बढ़ाता है। कहा जाता है कि इस खेल से दिमाग पूरी तरह से भर जाता है और खिलाड़ी इसे बार-बार खेलने के बारे में ही सोचने लगता है। इसका मतलब मन के लिए एक मनोवैज्ञानिक चाल होना है।

5. नींद के चक्र पर प्रभाव

इस खेल को बार-बार खेलने से नींद का चक्र प्रभावित होता है। बार-बार इस खेल को खेलने की ललक एक लत है और यह नींद की श्रृंखला और चक्र को भी प्रभावित करती है। बार-बार खेलने से समय और नींद के चक्र की निगरानी होती है। यह एक बड़ा कारण है कि जो लोग इस खेल के आदी होते हैं उन्हें नींद खराब होती है।

6. मिजाज और फटना

लगातार पबजी खेलना और वह भी जब आप गेम हार जाते हैं तो व्यक्ति कर्कश, क्रोधित और चिड़चिड़े हो सकता है। खेल का व्यवहार पर गहरा प्रभाव पड़ता है और यह सिरदर्द और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बनता है। यह तनाव और दिमाग पर अनावश्यक तनाव का कारण भी बनता है।

7. काम पर प्रभाव और परिणाम

pubg side effects

नौकरीपेशा लोगों को सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि खेल समग्र कार्य प्रदर्शन पर भारी प्रभाव डाल सकता है। इस गेम को खेलने में ऑफिस में अपना समय व्यतीत करना आपके कार्य शेड्यूल और कार्यों को सीधे प्रभावित कर सकता है, जो अंततः एक बड़ी निराशा की ओर ले जाएगा।

खेल वास्तविक जीवन में कैसे प्रभावित करता है?

इस खेल को खेलने का पक्ष केवल दिमाग तक ही सीमित नहीं है, मनोवैज्ञानिक भी इसका प्रभाव समग्र व्यवहार और स्वास्थ्य पर भी पड़ता है। यदि आप इस खेल को बार-बार खेलते हैं, तो आप थोड़े पागल हो सकते हैं।

अब, आइए कुछ प्रभावों पर एक नजर डालते हैं जो इस खेल के बारे में आपकी किसी तरह से मदद कर सकते हैं।

जैसा कि खेल के विभिन्न स्तर हैं और कई नई और अज्ञात चुनौतियों की ओर ले जाते हैं, यह आपके दिमाग को कई तरह से काम करता है। यह आपको उन तरीकों के बारे में सोचने के लिए प्रेरित कर सकता है जो आपको विजेता बना सकते हैं, जिसका वास्तव में अर्थ है अपने मस्तिष्क का उपयोग करना। यह नई चीजों को सीखने और कठिन परिस्थितियों से बाहर निकलने के तरीके खोजने की ओर भी ले जाता है।

साथ ही, खेल में कई तत्वों के सूक्ष्म प्रबंधन से भी बेहतर समन्वय होता है, एक टीम खिलाड़ी होने के नाते और उन लोगों के साथ कैसे तालमेल बिठाना है जिन्हें आप नहीं जानते हैं। तो, ये कुछ कारक हैं जो आपको इस खेल को खेलने के लिए प्रेरित कर सकते हैं, लेकिन कुछ हद तक। ओवरप्ले करने से आपके आस-पास के लोग आपको बेकार, गैर-जिम्मेदार और लापरवाह समझ सकते हैं, जो कि ऐसा नहीं हो सकता है और आपको अपने आसपास के लोगों से सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं मिल सकती है।

इसलिए, यदि आप इस गेम के बहुत बड़े प्रशंसक हैं, तो पबजी के इन दुष्प्रभावों के बारे में सोचें कि यह गेम आपको और आपके संपूर्ण कार्यक्रम को कैसे प्रभावित कर रहा है। इसका जवाब आपको अपने भीतर मिल सकता है। सही?

 

और पढ़े:-


Leave a Reply

Your email address will not be published.