Disease

Covid-19 : अस्थमा पीड़ित बच्चों को बचाने के लिए क्या करें माता-पिता | How to Protect childs from asthma |

Protect childs from asthma – कोरॉना वायरस, अस्थमा के मरीजों के लिए ज्यादा खतरनाक है और इस लिस्ट में बच्चे भी शामिल है. क्योंकि यह वायरस सीधे फेफड़ों को नुकसान पहुंचाता है, इसलिए अस्थमा के मरीजों को इस समय अधिक सावधान रहने की जरूरत है.

अगर आपके बच्चों को अस्थमा है तो करोना वायरस आपकी चिंता को 2 गुना बढ़ा सकता है. सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन का कहना है कि मध्य से गंभीर अस्थमा के मरीजों को इस वायरस से ज्यादा खतरा है.

कोरोना वायरस शासन मार्ग को प्रभावित कर सकता है और इससे निमोनिया एवं सांस से जुड़ी बीमारियां हो सकती है. इस बात की पुष्टि के लिए कोई डांटा तो उपलब्ध नहीं है. लेकिन इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि हम सभी एक महामारी के दौर से गुजर रहे हैं और हर दिन कुछ नया सीखने और जानने को मिल रहा है.

फिलहाल कोविड-19 की कोई वैक्सीनि या ट्रीटमेंट नहीं आई है. इस बीमारी के इलाज के लिए कई अध्ययन चल रहे हैं और जब तक ट्रीटमेंट या वैक्सीन नहीं बनती है, तब तक बचाव ही एकमात्र रास्ता है.

क्या कहता है अध्ययन | What study says How to Protect childs from asthma |

centre for disease control and prevention ने शुरुआत में ही कहा था की दीर्घकालिक लंग डिजीज ( जिसमें गंभीर दमा और एलर्जी शामिल है ) के मरीजों को चंगे लोगों की तुलना में करोना ज्यादा गंभीर रूप से प्रभावित कर सकता है. 

इटली के दो अस्पतालों में करोना के कुछ पीडियाट्रिक ( यानी बच्चे ) कोरोना मरीजों पर अध्ययन किया गया. 40 पीडियाट्रिक corona के मरीजों में सबसे सामान्य लक्षण बुखार ( 67.5% )  खांसी ( 55% ) नसोफैरिंजीयल ( 27.5 ) और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ( 17.5% ) लक्षण थे. इन बच्चों की औसत आयु 5 साल थी. 
किसी भी बच्चे को सांस लेने में दिक्कत नहीं थी, जबकि आठ यानी 20 फ़ीसदी बच्चों में कोई लक्षण नहीं थे. तीन बच्चे यानी 12.5 फ़ीसदी बच्चों में स्वाद और सुनने की शक्ति कम होना और 4 बच्चों में निमोनिया पाया गया. बस एक बच्चे को ही ऑक्सीजन थरेने और इंटेंसिव केयर यूनिट की जरूरत पड़ी.

बचाव के लिए किया करे | Protect childs from asthma |

यदि आपके बच्चे को अस्थमा है, तो इस महामारी से उसे सुरक्षित रखने के लिए उसे समय पर दवा देते रहे. इसके अलावा डॉक्टर से बात करते रहे और बच्चे की इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए दवाएं एवं अन्य तरीकों के बारे में पूछते रहे. 

अस्थमा पीड़ित बच्चों को कोविड-19 से बचाने के लिए आपको कुछ जरूरी सावधानियां बरतनी होंगे, जैसे कि : 
बच्चे के आसपास धुरुंपान ना करें. इसके अलावा अस्थमा को ट्रिगर करने वाले श्वसन संक्रमण धूल, मिट्टी, प्रदूषण और जानवरों से दूर रहें. 
बच्चों को थोड़ी थोड़ी देर में हैंड सेनीटाइजर और साबुन से हाथ धोना सिखाएं.

भीड़ भाड़ वाली जगह जाने से बचे और किसी बीमार व्यक्ति से भी बच्चे को दूर रखें. बेवजह यात्रा ना करें. 
अगर आपके घर पर कोई बीमार है, तो उसके एक अकेले कमरे में छोड़े. इससे घर में वायरस फैलने का खतरा कम होता है.
घर की सफाई में ऐसे कीटनाशक का इस्तेमाल करें, जो अस्थमा के अटैक को ट्रिगर कर सकता है.

डॉक्टर की सलाह 

दमा से पीड़ित बच्चों के लिए डॉक्टरों की सलाह है कि बच्चे रोज अपनी प्रोफिलैक्टिक दवाई ले. घर पर स्पेंसर और मास्क के साथ एमरजैंसी ब्रोंकोडाइलेटर्स और इनहेलेशन स्टेरॉयड रखें.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button