Gupt rog

पतंजलि लिंग वर्धक तेल के फायदे, उपयोग और दुष्प्रभाव – patanjali ling vardhak oil uses, benefits and side effect in Hindi

दोस्तो आज हम इस आर्टिकल में patanjali ling vardhak oil के बारे में जानने की कोशिश करेंगे. patanjali ling vardhak oil के बारे में आपको विस्तार से जानकारी देने की कोशिश करेंगे हमारे एक्सपर्ट. आज हम इस के उन सभी पहलू पर बात करेंगे, जिसको लोग गूगल पर बहुत अधिक मात्ररा सर्च करते हैं. 

उस सामग्री की पूरी जानकारी लेने की कोशिश करते हैं. patanjali ling के फायदे, नुकसान, सेवन विधि, तासीर और बनाने की विधि. इन सभी पर विस्तार से जानने की कोशिश करेंगे. बहुत से लोग इसके बारे में जानते तो है लेकिन उन्हें यह पता नहीं होता है कि ये कैसे काम करता है.

यह भी पढ़े: वीर्य पीने के फायदे और नुकसान

पतंजलि लिंग वर्धक तेल क्या है? – what is patanjali ling vardhak oil 

patanjali ling vardhak oil एक आयुर्वेदिक औषधि है. जिसका उपयोग केवल पुरषों के लिए ही वैध है. महिलाएं इस तेल का उपयोग नहीं कर सकती है. patanjali ling vardhak oil पुरषों के ling के साइज को बढ़ाने में काफी मदद करता है. लेकिन इसका सेवन हमेशा डॉक्टर की देख रख में ही करना चाहिए. बिना डॉक्टर के अनुमति के इसका सेवन नहीं करना चाहिए. आप इस तेल को अपने लिंग पर एक दिन में 2 बार तक लगा सकते है.  

आज हर कोई अपने छोटे और कमजोर लिंग से परेशान है, आज हर व्यक्ति की चाहत बड़े लिंग की है. लेकिन अपने छोटे लिंग को बड़ा कर पाना आसान नहीं है, ऐसे में सवाल यह होता है, की हमारा लिंग छोटा क्यूं रह जाता है. तो इसका जवाब है, बचपन में की गई गलतियां. 

लोग जाने अनजाने में बहुत सी गलतियां कर देता है. जिस वजह से उनके लिंग का साइज छोटा रह जाता है. लेकिन अब वक्त बदल गया है, आप आज हर एक काम कर सकते है, दवाई या तेल के जरिए. अगर आप अपने लिंग का साइज बढ़ाना चाहते हैं, तो इस आर्टिकल में ऐसे कुछ तेल का वर्णन किया गया है. आप उन सभी तेलो का इस्तेमाल कर सकते है. अपने लिंग की साइज बढ़ाने के लिए. 

पतंजलि लिंग वर्धक तेल के फायदे – patanjali ling vardhak oil benefits in hindi 

पतंजलि तेजस तैलम : इस तेल में उन सभी घटको का इस्तेमाल किया जाता है, जिससे हमारी वैवाहिक जीवन सुखद व समृद्धि रहे. इसके अलावा या तेल लिंग की मोटाई लंबाई व पतलेपन की समस्या को दूर करने में भी काफी कारगर साबित है शीघ्रपतन से परेशान व्यक्ति को भी इस तेल का इस्तेमाल अवश्य करना चाहिए. 

इस तेल के इस्तेमाल से आप किसी के पतन की समस्या दूर हो जाती है. जिससे आप लंबे समय तक बिस्तर पर टिक पाते हैं. बहुत से गुप्त रोग विशेषज्ञ भी इस तेल का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं. क्योंकि यह तेल लिंग की विधि करने में काफी सहायक है. इस तेल को अपने लिंग पर 3 महीने तक लगातार लगाने से फायदा अधिक होता है. 

ऑर्गनिक मसाज ऑइल : इस तेल को भी मुख्य रूप से लिंग की लंबाई और मोटाई बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. इसमें बहुत से ऐसे औषधि गुण मौजूद होते हैं जो हमारे लिंग की लंबाई को बढ़ाने में काफी मददगार साबित होते हैं. केसर, काली मिर्च, हींग, सरसो तेल इनके कुछ पर्मुख

यह पूरी तरह से एक आयुर्वेदिक तेल होता है, जिसमें बहुत से प्राकृतिक के घटकों का इस्तेमाल किया जाता है. अगर आप भी इस तेल का इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो आप 1 दिन में इस तेल को दो बार इस्तेमाल कर सकते हैं. रात को सोने से पहले इस तेल का इस्तेमाल करने से फायदा अधिक होता है.

पतंजलि लिंग वर्धक तेल से लिंग पर मालिश करने के फायदे – patanjali ling vardhak oil se ling par malish karne ke fayde 

अगर आप इस तेल से रोजाना मालिश करते है, तो यह आपके नशा में पुनाह जान दाल देता है, जिससे आपका लिंग अगर ठीक से खड़ा नहीं हो पाता है, तो यह तेल लिंग को अपने पूरे आकार में खड़ा होने में काफी मदद करता है. 

इसके अलावा इसके लगातार इस्तेमाल से आपके ling ki लंबाई व मोटाई में भी बढ़ोतरी होती है. अगर आप भी अपने लिंग के किसी समस्या से परेशान है, तो इस तेल का इस्तेमाल आपको अवश्य करना चाहिए. इससे आपको काफी फायदा मिलेगा. 

यह भी पढ़े: लिंग वर्धक यंत्र के फायदे, उपयोग और दुष्प्रभाव

पतंजलि लिंग वर्धक तेल के नुकसान – patanjali ling vardhak oil side effect in Hindi

  1. इस तेल का इस्तेमाल हमेशा सीमित मात्रा में और सीमित समय के किया किया जाना चाहिए. 

2. इस तेल का उपयोग केवल बाहरी उपयोग के लिए है. 

3. इस तेल का उपयोग केवल वहीं लोग मर सकते हैं, जिनकी उम्र 18 साल से अधिक हो, 18 साल से कम उम्र के व्यक्ति को इसका सेवन नहीं करना चाहिए. इससे उन्हें नुकसान हो सकता है. 

4. इसको एक दिन मैं 2 बार से अधिक नहीं लगाना चाहिए.

पतंजलि लिंग वर्धक तेल इस्तेमाल करने की विधि – patanjali ling vardhak oil uses in hindi

इस तेल को सबसे पहले आप अपने हाथो में ले लेना. इस तेल का ज्यादा इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. इसका इस्तेमाल सीमित मात्रा में करना चाहिए. इस तेल की 10 से 12 बूंदे अपने हाथो में लें. उसके बाद इसे अपने लिंग पर हल्के हाथों से 15 मिनट तक मालिश करे. याद रखे मालिश करते वक्त वीर्य पतन ना हो. अगर आपका वीर्य निकल जाता है, तो इससे आपको कोई फायदा नहीं होगा. 

और पढ़े:-

Related Articles

2 Comments

  1. Pingback: जैतून का तेल को लिंग पर लगाने के फायदे और नुकसान
  2. Pingback: हिमालय कॉन्फीडो टैबलेट के फायदे, उपयोग और दुष्प्रभाव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button