Home Disease Migraine in Hindi माइग्रेन के लक्षण, इलाज, कारण, दवा और उपचार -...

Migraine in Hindi माइग्रेन के लक्षण, इलाज, कारण, दवा और उपचार – othershealth

Migraine in Hindi
Migraine in Hindi

किया है माइग्रेन?? Migraine in Hindi

Migraine – आज सिर दर्द की समस्या आम हो गई है. सिरदर्द धीरे-धीरे या अचानक विकसित हो सकता है और 1 घंटे से कम समय से लेकर कई दिनों तक रह सकता है. इसके कारण सामान्य से लेकर गंभीर हो सकते हैं, जब सिरदर्द असहनीय हो और उस दौरान आप रोशनी और शोर को सहन न कर पा रहे हो, कमजोरी महसूस हो रही हो, उल्टी करने के बाद ही आपके सिर दर्द में कमी आए, तब यह समझ जाना चाहिए कि आप माइग्रेन शिकार हैं.

सिर दर्द बहुत ही सामान्य स्थिति है, जिसके कारण सिर, खोपड़ी या गर्दन में दर्द और परेशानी होती है. एक अनुमान के अनुसार 10 में से 7 लोगों को साल में कम से कम एक बार गंभीर सिरदर्द की समस्या का सामना करना पड़ता है.

सिर दर्द के कारण काम में ध्यान केंद्रित करने और दूसरी दैनिक गतिविधियां करने में समस्या आती है. लेकिन अधिकतर सिर दर्द को दवाइयों और जीवनशैली में परिवर्तन लाकर ठीक किया जा सकता है. सिरदर्द तीन प्रकार के होते हैं टेंशन हेडेएक क्लस्टर हेडएक और माइग्रेन.

टेंशन हेडेएक

टेंशन हेडेक सबसे सामान्य प्रकार है और यह 20 वर्ष से अधिक की महिलाओं को अधिक होता है. ऐसा लगता है, जैसे किसी ने सिर के आसपास कस कर कोई रस्सी बांध दिया हो. यह गर्दन और खोपड़ी की मांसपेशियों के टाइट होने से होता है. तनाव इसका सबसे बड़ा रिस्क फैक्टर है. यह आमतौर पर कुछ मिनट तक रहता है, लेकिन कुछ मामलों में कई दिनों तक रह सकता है, बार बार भी हो सकता है.

क्लस्टर हेडएक

यह नॉन-थ्रोबिंग हेडेक है. इसमें सिर के एक और तेज दर्द होता है, आंखों से आंसू निकलने लगते हैं और नाक बहने लगती है. यह लंबे समय तक रह सकता है जिसे क्लस्टर पीरियड कहते हैं. यह क्लस्टर पीरियड 6 सप्ताह तक लंबा हो सकता है. रोज हो सकता है और दिन में 1 बार से अधिक हो सकता है. हालांकि इस सिरदर्द के मामले कम ही देखे जाते हैं.

Migraine in Hindi

लंबे समय तक चलने वाला सिरदर्द आगे चलकर माइग्रेन का रूप लेता है. यह कुछ घंटों से लेकर कई दिनों तक रह सकता है. अभी हाल के दिनों तक माना जाता था कि माइग्रेन संवहनी होता है, जो मस्तिष्क की रक्त नलिकाओं के फैलने और सिकुड़ने के कारण होता है. लेकिन कई अनुसंधानों में यह बात सामने आई है कि माइग्रेन केंद्रीय तंत्रिका-तंत्र की गड़बड़ी के कारण होता है, जिसके कारण न्यूरोट्रांसमीटर्स का संचरण प्रभावित होता है और विशेष रूप से सेरोटोनिन का असंतुलन हो जाता है.

माइग्रेन के लक्षण ( migraine in Hindi ) 

1. जी मिचलाना और उल्टी होना.

2. सिर दर्द के दौरान धुंधला दिखाई देने लगना.

3. थोड़ी देर रात्रि और शोर में दर्द असहनीय रूप से बढ़ जाना. काम करने में अत्यधिक कमजोरी व शरीर में दर्द महसूस होना.

4. बालों को बांधने में भी रह-रह कर परेशानी होना.
 सोचने की क्षमता प्रभावित होना. कभी कभी बोलते समय अटकने लगना.

बरतें ये सावधानियां ( migraine in Hindi ) 

1. रक्त में शुगर का स्तर कम ना होने दें. सही समय पर खाना खाए. नाश्ता मिस ना करें. तनाव ना लें. दिमाग को शांत रखने के लिए ध्यान व योग करें.

2. शारीरिक रूप से सक्रिय रहे. रोज 30 मिनट वर्कआउट करें. 6 से 8 घंटे की गहरी नींद ले. गैजेट का प्रयोग कम करें.  पानी और दूसरे तरल पदार्थों का सेवन पर्याप्त मात्रा में करें.

माइग्रेन के ट्रिगर के कारण

वैसे तो माइग्रेन के वास्तविक कारणों का पता नहीं है. अक्सर देखा जाता है कि माइग्रेन एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में ट्रांसफर होता है. मनोवैज्ञानिक समस्या जैसे उत्तेजना व अवसाद या न्यूरोटिक डिसऑर्डर माइग्रेन के खतरे को बढ़ा देते हैं इसके अलावा तनाव में रहना नींद में कमी भूखे पेट रह जाना अल्कोहल लेना शारीरिक क्षमता से अधिक कार्य करना भी इसे बढ़ावा देते हैं

डॉक्टर से संपर्क करें

सिर दर्द किसी गंभीर स्थिति जैसे स्ट्रोक या एन्सेफेलाइटिस का लक्षण हो सकता है. अगर सिर दर्द के साथ यह लक्षण दिखाई दे, तो पूरा डॉक्टर से संपर्क करें जैसे भ्रमित होना, बेहोशी छा जाना, तेज बुखार, कमजोरी या शरीर का एक भाग लकवा ग्रस्त हो जाना,  गर्दन में अकड़न, देखने-बोलने-चलने में परेशानी आना, जी मिचलाना या उल्टी होना.

    33 source

 

Read Also :- माइग्रेन उपचार हिंदी, कारण, लक्षण, हमला ( MIGRAIN TREATMENT HINDI, CAUSES, SYMPTOMS, ATTACK )

Health Expertshttps://othershealth.in
Health experts: आजकल की जीवनशैली ऐसी है की लोग विभीन्न तरह की बीमारियों से पीड़ित है और दवा लेते लेते थक चुके है। Othershealth.in के माध्यम से आप अच्छे से अच्छा घरेलू उपचार और चिकित्सा कर सकते है। हम Doctors and Experts की टीम है,जिसमे चिकित्सा विशेषज्ञ के द्वारा यह जानकारी दी गयी है की हम एक अच्छी और स्वस्थ जीवन कैसे जी सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

ज़ालिम लोशन के फायदे, उपयोग और दुष्प्रभाव – zalim lotion uses, benefits and side effect in Hindi

ज़ालिम लोशन - zalim lotion in Hindi आज हम इस आर्टिकल में ज़ालिम लोशन ( zalim lotion in hindi )...

जापानी एम कैप्सूल के फायदे, उपयोग और दुष्प्रभाव – japani m capsule uses, benefits and side effect in Hindi

जापानी एम कैप्सूल - japani m capsule in Hindi आज हम इस आर्टिकल में जापानी एम कैप्सूल ( japani...

स्टेमेटिल टैबलेट के फायदे, उपयोग और दुष्प्रभाव – stemetil md tablet uses, benefits and side effect in Hindi

स्टेमेटिल एमडी टैबलेट - stemetil md tablet in Hindi   हम इस आर्टिकल में स्टेमेटिल एमडी टैबलेट ( stemetil md tablet...

बर्नोल क्रीम के फायदे, उपयोग और दुष्प्रभाव – burnol cream uses, benefits and side effect in Hindi

बर्नोल क्रीम - burnol cream in Hindi आज हम इस आर्टिकल में बर्नोल क्रीम ( burnol cream in Hindi...

दिव्य मेदोहर वटी के फायदे, नुकसान और सेवन करने की विधि – Divya medohar vati uses, benefits and side effect in Hindi

दिव्य मेदोहर वटी - Divya medohar vati in Hindi दिव्य मेदोहर वटी Divya medohar vati uses in hindi एक...