Ayurveda

मकरध्वज वटी के फायदे, उपयोग और दुष्प्रभाव – Makardhwaj Vati uses, benefits and side effect in Hindi

Contents hide
3 मकरध्वज वटी के घटक द्रव्य – Makardhwaj Vati ingredients in hindi
3.3 मकरध्वज वटी के नुकसान – Makardhwaj Vati side effect in Hindi

मकरध्वज वटी – Makardhwaj Vati in hindi

दोस्तो आज हम इस आर्टिकल में मकरध्वज वटी ( Makardhwaj Vati ) के बारे में जानने की कोशिश करेंगे. मकरध्वज वटी के बारे में आपको विस्तार से जानकारी देने की कोशिश करेंगे हमारे एक्सपर्ट. आज हम मकरध्वज वटी के उन सभी पहलू पर बात करेंगे, जिसको लोग गूगल पर बहुत अधिक मात्ररा सर्च करते हैं. 

उस सामग्री की पूरी जानकारी लेने की कोशिश करते हैं. मकरध्वज वटी ( Makardhwaj Vati ) के फायदे, नुकसान, सेवन विधि, तासीर और बनाने की विधि. इन सभी पर विस्तार से जानने की कोशिश करेंगे. बहुत से लोग इसके बारे में जानते तो है लेकिन उन्हें यह पता नहीं होता है कि ये कैसे काम करता है.

इन्हे भी पड़े : पतंजलि लिंग वर्धक तेल के फायदे, उपयोग और दुष्प्रभाव – patanjali ling vardhak oil uses, benefits and side effect in Hindi

मकरध्वज वटी क्या है? – what is Makardhwaj Vati  in hindi

मकरध्वज वटी ( Makardhwaj Vati ) कई प्राकृतिक तत्वों से मिलकर बनी एक आयुर्वेदिक दवा है. मकरध्वज वटी का उपयोग स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी है. इसकी सबसे खास बात यह है कि इसके कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है. अगर आप इसका पूरा लाभ लेना चाहते हैं, तो आपको इसका उपयोग डॉक्टर के निर्देशानुसार ही करना चाहिए. 

Makardhwaj Vati का मुख्य रूप से उपयोग यौन समस्याओं से जुड़ी बीमारियों के इलाज में किया जाता है. वीर्य का पतलापन, स्वप्नदोष, शीध्रपतन, मूत्र के साथ वीर्य की हानि, आंखों की कमजोरी, स्मरण शक्ति का ह्रास, नपुंसकता, गर्भ न ठहरना, अपच, भ्रम, नसों में कमजोरी और दबाव, थकावट आदि सभी लक्षणों में इसका इस्तेमाल में बिना किसी परेशानी के किया जा सकता हैं. मकरध्वज वटी का सेवन आप इन सभी बीमारियों में कर सकते है. 

इसके अलावा मकरध्वज वटी का सेवन और भी बहुत से रोगों में किया जाता है. किसी व्यक्ति को यदि मूत्र से जुड़ी समस्या हो, तक उस व्यक्ति को इसका सेवन करना चाहिए. इसके अलावा यह पाचन तंत्र से जुड़ी समस्या में भी बहुत कारगर है. 

इन्हे भी पड़े : पतंजलि लिंग वर्धक टैबलेट के फायदे, उपयोग और दुष्प्रभाव – patanjali ling vardhak tablet uses, benefits and side effect in Hindi

मकरध्वज वटी के घटक द्रव्य – Makardhwaj Vati  ingredients in hindi 

इस मकरध्वज वटी को बनाने में निम्न घटक द्रव्य का इस्तेमाल किया जाता है. 

  • 1. मकरध्वज 
  • 2. रस सिंदूर 
  • 3. मलल सिंदूर 
  • 4. जायफल 
  • 5. जवत्री 
  • 6. लॉन्ग
  • 7. कपूर 
  • 8. सफेद मिर्च 
  • 9. अभ्रक भस्म 
  • 10. लौह भस्म 
  • 11. शुद्ध कुचला 
  • 12. चित्र कमुल 

मकरध्वज वटी के फायदे – Makardhwaj Vati  benefits in hindi

मकरध्वज वटी के फायदे बहुत है. इसके कुछ फायदों का वर्णन नीचे किया जा रहा है. 

1. इसका सेवन उन व्यक्ति के लिए बहुत फायदेमंद है, जिनको डायबिटीज़ है. डायबिटीज़ के मकरध्वज वटी का सेवन कर सकते है. इसके सेवन से उनका डायबिटीज़ नियंत्रित रहता है, या यूं कहे, तो मकरध्वज वटी डायबिटीज़ को नियंत्रित रखता है. 

2. शारीरिक रूप से कमजोर हो चुके लोगो को इसका सेवन करना चाहिए. मकरध्वज वटी शारीरिक कमजोरी को दूर करता है. एवं शरीर में नई ऊर्जा भी पैदा कर देता है. जिससे आपकी शारीरिक कमजोरी दूर हो जाती है. और आप के अंदर एक नई ऊर्जा का संचार होता है. 

3. मकरध्वज वटी के सेवन का सबसे अधिक उन व्यक्ति को होता है. जो नपुंसकता से पीड़ित है. या यूं कहे कि उनका लिंग खड़ा नहीं हो पाता है. ऐसी स्तिथि में अगर आप मकरध्वज वटी का सेवन करते है, तो यह आपकी नाशो में जान डाल देता है. जिससे आपका लिंग पुनह खड़ा हो पाता है. जिससे आपकी नपुंसकता दूर होने में काफी मदद मिलती है. 

इन्हे भी पड़े : हिमालय कॉन्फीडो टैबलेट के फायदे, उपयोग और दुष्प्रभाव – Himalaya Confido Tablet uses, benefits and side effect in Hindi

मकरध्वज वटी के फायदे – Makardhwaj Vati benefits in hindi

4. मकरध्वज वटी का सेवन उन लोगो के लिए भी किसी वरदान से कम नहीं है, जो लोग शीघ्रपतन की समस्या से परेशान हो. बचपन में कि गई गलतियों से हमें जवानी में नुकसान उठाना पड़ता है. बहुत अधिक हस्तमैथुन के कारण शीघ्रपतन की समस्या उत्पन्न होती है. इसलिए अगर आपको शीघ्रपतन की समस्या से छुटकारा पाना है, तो मकरध्वज वटी का सेवन अवश्य करें. 

5. बहुत से लोगो कि यह शिकायत होती है, कि उनका वीर्य बहुत पतला है, या उनमें शुक्राणुओं की कमी है. अगर आप भी इन सभी समस्याओं से परेशान है, तो आपको एक मकरध्वज वटी का सेवन अवश्य करना चाहिए. मकरध्वज वटी शुक्राणुओं की कमी को दूर कर वीर्य को गाढ़ा बना देता है. 

6. उम्र बढ़ने के साथ-साथ हमारे सेक्स करने की इच्छा भी कम होती जाती है, जैसे जैसे हमारी उम्र बढ़ती है वैसे-वैसे हमारी सेक्स करने की इच्छा भी कम होती है सेक्स की इच्छा को फिर से जागृत करने के लिए हमें मकरध्वज वटी का सेवन करना चाहिए. 

इन्हे भी पड़े : जैतून का तेल को लिंग पर लगाने के फायदे और नुकसान – olive oil ko ling par lagane ke fayde aur nukshan

मकरध्वज वटी के नुकसान – Makardhwaj Vati side effect in Hindi

सामान्यता: मकरध्वज वटी के कोई साइड इफेक्ट तो नहीं है, लेकिन फिर भी इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से परामर्श कर लेना चाहिए. इसके कुछ दुष्प्रभाव का वर्णन नीचे किया गया है. 

1. गर्भवती महिला को मकरध्वज वटी का सेवन करने से बचना चाहिए. इसके सेवन से उनके बच्चे को हानि पहुंच सकती है. 

2. बच्चो को इसका सेवन नहीं करना चाहिए. मकरध्वज वटी के सेवन बच्चो को भी हानि पहुंच सकती है. इसका सेवन केवल वहीं लोग कर सकते है. जिसको उम्र 18 साल से अधिक हो. 

3. मकरध्वज वटी का अधिक मात्रा में सेवन करने से बचना चाहिए. अधिक मात्रा मैं इसका सेवन करने से शरीर पर काफी दुष्प्रभाव पड़ सकते हैं. 

4. मकरध्वज वटी के अधिक सेवन से आपके मस्तिष्क का संतुलन बिगड़ जाता है जिससे आप चिड़चिड़ापन महसूस करते हैं. और आपको बहुत अधिक गुस्सा भी आता है. 

5. इसके अधिक सेवन से तनाव भी आता है. 

इन्हे भी पड़े : लिंग पर नारियल तेल लगाने के फायदे और नुकसान – ling par nariyal tel lagane ke fayde aur nukshan

मकरध्वज वटी सेवन विधि – Makardhwaj Vati  Sevan vidhi in hindi

इस ( मकरध्वज वटी ) के सेवन की बात करे, तो आप एक दिन इसके 2 गोली का सेवन कर सकते हैं. आप इसे सुबह नाश्ता करने के बाद और रात को खाना खाने के बाद ले सकते है. इसका सेवन हमेशा खाना खाने के बाद करे. खाने से पहले इसका सेवन नहीं करना चाहिए. आप इसका सेवन दूध के साथ भी कर सकते है. इसके अलावा आप इसका सेवन शहद, मक्खन या हल्के गुनगुने पानी के साथ भी कर सकता है. 

मकरध्वज वटी के चिकित्सीय उपयोग – Makardhwaj Vati uses in hindi

इसके ( मकरध्वज वटी ) के बहुत से चिकित्सीय उपयोग है. उन सभी रोगों का वर्णन नीचे किया जा रहा है. जिस रोग में इसका सेवन किया जाता है.  

  • 1. Diabetes 
  • 2. शारीरिक कमजोरी 
  • 3. नपुंसकता दूर करने में 
  • 4. स्तंभन दोष को दूर करने में 
  • 5. वीर्य दोष 
  • 6. हार्मोन को संतुलित करने में. 
  • 7. पाचन तंत्र को मजबूत करने में 
  • 8. स्मरण शक्ति को बढ़ाने में 
  • 9. नींद के रोग में 
  • 10. शीघ्रपतन 
  • 11. स्वप्नदोष 
  • 12. मूत्र रोग 

मकरध्वज वटी का मूल्य – Makardhwaj Vati price

इसके ( मकरध्वज वटी ) के मूल्य की बात करे, तो यह काफी सस्ती और बहुत ही अच्छी दवाई है. इसके अलावा यह आपको कई जगह पर आसानी से मिल भी जाएगा. मकरध्वज वटी गोलियों के रूप में उपलब्द है. इसके एक डब्बे की कीमत ₹100 rupay है. इसके एक डब्बे में कुल 40 गोलियां होती है. जिसका सेवन आप डॉक्टर के निर्देशानुसार कर सकते हैं. आप इसे ऑनलाइन स्टोर से भी खरीद सकते हैं. 

इन्हे भी पड़े : लिंग पर वेसलीन लगाने के फायदे और नुकसान – ling par vaseline lagane ke fayde aur nukshan

मकरध्वज वटी के बारे में डॉक्टर से पूछे गए सवाल और उनके जवाब 

Q1. मकरध्वज वटी का सेवन कितने दिनों तक करना चाहिए? 

Ans : मकरध्वज वटी का सेवन कितने दिनों तक करना चाहिए. इसके बारे में विस्तार से जानने के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं.

Q2. मकरध्वज वटी का सेवन कब करना चाहिए? 

Ans : मकरध्वज वटी का सेवन का सेवन खाना खाने के बाद करना चाहिए. खाना खाने से पहले इसका सेवन नहीं किया जा सकता है. इससे आपको नुकसान हो सकता है. 

Q3. क्या मकरध्वज वटी के सेवन से मुझे इसकी लत लग सकती है? 

Ans : नहीं. इसके सेवन से किसी तरह की लत नहीं लगती है. क्यूंकि इसमें कोई भी नशीली घटक द्रव्य नहीं होता है. इसलिए आप बिना किसी परेशानी के इसका सेवन कर सकते है. 

इन्हे भी पड़े : लिंग पर देसी घी लगाने के फायदे और नुकसान – ling par desi ghee lagane ke fayde aur nukshan

Q4. क्या मकरध्वज वटी सेवन शराब के साथ किया जा सकता है?

Ans : नहीं. इसका सेवन शराब के साथ नहीं किया जा सकता है. क्यूंकि इसका शराब के साथ सेवन सेहत के लिए हानिकारक साबित होता है. 

Q5. क्या मकरध्वज वटी के सेवन के बाद ड्राइविंग किया जा सकता है?

Ans : हां. मकरध्वज वटी का सेवन करने के बाद आप ड्राइविंग कर सकते हैं. इसका सेवन करने के बाद नींद नहीं आती है.

Q6. क्या मकरध्वज वटी का सेवन बच्चो के लिए सुरक्षित है? 

Ans : नही. इसका सेवन बच्चो को भी नहीं करना चाहिए. बच्चो के लिए भी यह नुकसानदेह है. अगर कोई बच्चा भूल से इसका सेवन कर लेता है, तो उसे तुरंत डॉक्टर से दिखाना चाहिए. 

Q7. क्या मकरध्वज वटी का सेवन महिलाएं कर सकती है?

Ans : नहीं. मकरध्वज वटी ( Makardhwaj Vati ) का सेवन कोई भी महिला नहीं कर सकती है. इससे उनको नुकसान पहुंच सकता है. यदि किसी महिला ने इसका सेवन किया है, तो उसे तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए. 

Q8. क्या मकरध्वज वटी का सेवन गुनगुने पानी के साथ किया जा सकता है? 

Ans : मकरध्वज वटी ( Makardhwaj Vati ) का सेवन आप गुनगुने पानी के साथ कर सकते हैं. गुनगुने पानी के साथ इसका सेवन पूरी तरह से सुरक्षित है. 

इन्हे भी पड़े : लिंग पर सरसो तेल लगाने के फायदे, नुकसान और लगाने का सही तरीका – ling par sarso tel lagane ke fayde aur nukshan 

इन्हे भी पड़े : हैमर ऑफ थोर के फायदे, उपयोग और दुष्प्रभाव – hammer of thor uses, benefits and side effect in Hindi 

और भी पड़े : जापानी तेल लगाने के फायदे, नुकसान और लगाने की विधि – japani oil benefits and side effect in Hindi 

इन्हे भी पड़े : सांडे के तेल के फायदे, नुकसान और लगाने का सही तरीका – sanda oil benefits and side effect in Hindi 

इन्हे भी पड़े : स्टे ऑन तेल के इस्तेमाल करने का तरीका, फायदे और नुकसान – stay on oil uses, benefits and side effect in Hindi 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button