Ayurveda

महारास्नादि काढ़ा के फायदे, उपयोग और दुष्प्रभाव – maharasnadi kwath uses, benefits and side effect in Hindi

Contents hide
2 महारास्नादि काढ़ा क्या है – what is maharasnadi kwath in Hindi
2.5 महारास्नादि काढ़ा को किन बीमारियों में किया जाता है – maharasnadi kwath disease uses in Hindi

महारास्नादि काढ़ा – maharasnadi kwath in Hindi

दोस्तो आज हम इस आर्टिकल में महारास्नादि काढ़ा ( maharasnadi kwath ) के बारे में जानने की कोशिश करेंगे. महारास्नादि काढ़ा के बारे में आपको विस्तार से जानकारी देने की कोशिश करेंगे हमारे एक्सपर्ट. आज हम maharasnadi kwath के उन सभी पहलू पर बात करेंगे, जिसको लोग गूगल पर बहुत अधिक मात्रा में सर्च करते हैं. 

उस सामग्री की पूरी जानकारी लेने की कोशिश करते हैं. महारास्नादि काढ़ा ( maharasnadi kwath ) के फायदे, नुकसान, सेवन विधि, तासीर और बनाने की विधि. इन सभी पर विस्तार से जानने की कोशिश करेंगे. बहुत से लोग इसके बारे में जानते तो है लेकिन उन्हें यह पता नहीं होता है कि ये कैसे काम करता है

महारास्नादि काढ़ा क्या है – what is maharasnadi kwath in Hindi

महारास्नादि काढ़ा ( maharasnadi kwath ) एक आयुर्वेदिक औषधि है. जिसे बहुत सी जड़ी बूटियों को मिलाकर बनाया जाता है. इसके सेवन से बहुत से बीमारियों से छुटकारा मिलता है. जैसे – पैरों के दर्द, कमर के दर्द, हिप्स के दर्द, गरदन के दर्द, पैरालिसिस आदि में बहुत उपयोगी है. 

 महारास्नादि काढ़ा के घटक – maharasnadi kwath ingredients in Hindi

महारास्नादि काढ़ा में बहुत सी जड़ी बूटियां मिलाई जाती है. इसमें बहुत सी ऐसी जड़ी बूटियां होती है. जो बहुत अधिक कड़वा होती है. जिसके वजह से इसका स्वाद भी काफी कड़वा होता है. इसके घटक की बात करे, तो इसमें –

  • रासना
  • धनव्यास
  • बला
  • एरंड मूल
  • सटी
  • देव दारू
  • वासा
  • बचा
  • सुंठी
  • चाविय
  • हरिटकी
  • मस्ता
  • जल
  • अश्वगंधा
  • शतावरी
  • पीपल आदि.

महारास्नादि काढ़ा सेवन विधि – maharasnadi kwath uses in Hindi

महारास्नादि काढ़ा  सेवन की बात करे, तो इसे आप दिन में दो बार ले सकते हैं सुबह और शाम. इसका सेवन सीमित मात्रा में करना चाहिए. इसके अधिक सेवन से नुकसान भी हो सकता है. आप इसे एक बार में 10ml से 20ml से अधिक ना लें. आप चाहे तो इसे आप पानी के साथ भी के सकते हैं. यह काढ़ा बहुत कड़वा होता है. बहुत से लोग इसका सेवन से हिचकिचाते हैं. उन लोगो को में बता देना चाहता हूं, की आप इसका सेवन आप चीनी के साथ भी कर सकते हैं. 

महारास्नादि काढ़ा के फायदे – maharasnadi kwath benefits in Hindi

महारास्नादि काढ़ा के फायदे बहुत है. इसे कोई भी पी सकता है. यह सबके लिए फायदमंद होता है. महिला हो चाहे बच्चा हो, बुजुर्ग हो या जवान हो कोई भी इसे पी सकता है. इसके फायदे की बात करे, तो – 

  • 1. महारास्नादि काढ़ा का सेवन महिलाओं को बांझपन में कराया जाता है. 
  • 2. महारास्नादि काढ़ा महिलाओं के योनि के विकारों को भी दूर करता है. 
  • 3. महारास्नादि काढ़ा के सेवन से कमर दर्द भी दूर होता है. 
  • 4. महारास्नादि काढ़ा के सेवन से गर्भ ठहरने में फायदेमंद है. 
  • 5. लकवा के इलाज में यह काफी फायदेमंद है. 
  • 6. इसके सेवन से वीर्य की प्रॉब्लम से छुटकारा मिलता है. 

महारास्नादि काढ़ा के नुकसान – maharasnadi kwath side effect in Hindi

महारास्नादि काढ़ा के नुकसान कि बात करे, इसके कोई भी साइड इफेक्ट अभी तक सामने नहीं आए है. लेकिन इसमें मौजूद अगर की औषधि से आपको एलर्जी है, तो इसका सेवन करने से बचना चाहिए. फिर अगर इसका सेवन करना चाहते हैं, तो इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श कर लें. उसके बाद ही इसका सेवन करे. 

महारास्नादि काढ़ा को किन बीमारियों में किया जाता है – maharasnadi kwath disease uses in Hindi

महारास्नादि काढ़ा बहुत से बीमारियों मैं उपयोगी है. जैसे – 

  • 1. पैरों के दर्द में. 
  • 2. कमर के दर्द में. 
  • 3. हिप्स के दर्द में. 
  • 4. गर्दन के दर्द में. 
  • 5. कंधा के दर्द में. 
  • 6. पैरालिसिस में.
  • 7. योनि रोग में. 

महारास्नादि काढ़ा का मूल्य – maharasnadi kwath price in Hindi

महारास्नादि काढ़ा का उत्पादन बहुत सारी कंपनियां करती है, जैसे – डाबर, वैदनाथ, नागार्जुन, पतंजलि आदि. और सभी कंपनियों के दाम भी अलग अलग है. वैसे आपको इसे खरीदने के लिए अधिक पैसे खर्च नहीं करने पड़ेंगे. क्यूंकि यह काफी सस्ता है. इसके दाम की बात करे तो यह 100 रुपए के आस पास है. 

यह लगभग सभी दवाई दुकान पर उपलब्ध होता है. या फिर आप इसे किसी हकीम दुकान से भी खरीद सकते हैं. अगर आपको यह दोनों जगह नहीं मिलता है, तो आप इसे ऑनलाइन वेबसाइट से भी खरीद सकते हैं. इसे आप अमेजॉन, फ्लिपकार्ट, या 1mg खरीद सकते हैं. 

महारास्नादि काढ़ा के बारे में डॉक्टर से पूछे गए सवाल और उनके जवाब 

Q1. महारास्नादि काढ़ा का सेवन कितने दिनों तक करना चाहिए? 

Ans : महारास्नादि काढ़ा का सेवन लगातार 4 से 6 हफ्ते तक किया जा सकता है. इससे अधिक इसका सेवन करने के लिए आपको डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए. 

Q2. महारास्नादि काढ़ा का सेवन कब करना चाहिए? 

Ans : महारास्नादि काढ़ा का सेवन खाना खाने के बाद करना चाहिए. खाना खाने से पहले इसका सेवन नहीं करना चाहिए. इससे आपको नुकसान हो सकता है. 

Q3. क्या महारास्नादि काढ़ा के सेवन से मुझे इसकी लत लग सकती है?

Ans : नहीं. महारास्नादि काढ़ा के सेवन से लत नहीं लगती है. यह पूरी तरह सुरक्षित और पूर्ण आयुर्वेदिक औषधि है. 

Q4. क्या महारास्नादि काढ़ा सेवन शराब के साथ किया जा सकता है?

Ans : नहीं. महारास्नादि काढ़ा का सेवन शराब के साथ नहीं किया जा सकता है. महारास्नादि काढ़ा का शराब के साथ सेवन शरीर के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है. 

Q5. क्या महारास्नादि काढ़ा के सेवन के बाद ड्राइविंग किया जा सकता है?

Ans : हां. महारास्नादि काढ़ा का सेवन करने के बाद ड्राइविंग किया जा सकता हैं. यह इसका सेवन पूरी तरह सुरक्षित है. क्यूंकि इसका सेवन करने के बाद नींद नहीं आती है. 

Q6. क्या महारास्नादि काढ़ा का सेवन बच्चो के लिए सुरक्षित है?

Ans : महारास्नादि काढ़ा का सेवन केवल 5 साल से अधिक उम्र के बच्चो को ही कराना चाहिए. 5 साल से कम उम्र के बच्चो के लिए अर्जुनारिष्ट सिरप का सेवन सुरक्षित नहीं है. 

Q7. क्या महारास्नादि काढ़ा का सेवन महिलाएं कर सकती है?

 Ans : हां. महारास्नादि काढ़ा ( maharasnadi kwath ) का सेवन महिलाएं कर सकती है. लेकिन इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना चाहिए. गर्भावस्था के दौरान महारास्नादि काढ़ा का सेवन करने से बचना चाहिए और स्तनपान कराने वाली महिला को महारास्नादि काढ़ा का सेवन करने से पहले डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए. 

Q8. क्या महारास्नादि काढ़ा का सेवन गुनगुने पानी के साथ किया जा सकता है? 

Ans : महारास्नादि काढ़ा ( maharasnadi kwath ) का सेवन हल्के गुनगुने पानी के साथ किया जा सकता है. पानी के साथ इसका सेवन करने किसी तेज़ का हानिकारक प्रभाव नहीं पड़ता है. यह पूरी तरह सुरक्षित है. 

नोट : महारास्नादि काढ़ा ( maharasnadi kwath ) के बारे में कोई और प्रश्न है, तो हमे कॉमेंट बॉक्स में लिख कर जरूर बताएं. हम आपके सभी सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगे.

Related Articles

Back to top button