Home Yoga प्रजनन क्षमता बढ़ाने में सहायक है बकासन - Bakasana in Hindi -...

प्रजनन क्षमता बढ़ाने में सहायक है बकासन – Bakasana in Hindi – othershealth

 

Bakasana in Hindi
Bakasana
 

बकासन करने  का तरीका और उसके फायदे-Bakasana steps and benefits in hindi

बकासन – शरीर को चुस्त-दुरुस्त रखने का सबसे बढ़िया तरीका है योग | आजकल जंग फूड के ज्यादा प्रयोग और अनियमित दिनचर्या होने से शरीर का बेडौल हो जाना आम हो गया है | यदि आप अपने पाचन तंत्र और उसके किर्या को मजबूत करना चाहते हैं और शरीर के किसी भी अंग के मोटापे से परेशान है | तो बकासन आसन करने से इसमें आपको बहुत मदद मिलेगी | आपका शरीर चुस्त रहेगा और सभी में अध्यक्ष चर्बी काफी कम होगी |

आप इस आसन को किस तरह से कर सकते हैं इसकी विधि हम नीचे आपको बताएंगे

 विधि:

  • उकरू होकर बैठ जाएं और पंजों को एक दूसरे से अलग कर ले |
  • पैरों की उंगलियों पर सही से संतुलन बनाकर हथेलियों को पंजों के ठीक सामने जमीन पर रखें |
  • याद रहे की उंगलियां सामने की ओर रहे |
  • कहानियों को थोड़ा मोड़ ले और सामने की ओर झुके | 
  • घुटना को इस प्रकार रखें कि उनका भीतरी भाग भुजाओं के बाहरी भाग को, जितना अधिक निकट हो सके स्पर्श करता रहे |
  • इसके बाद थोड़ा और आगे झुके और पंजों को जमीन से ऊपर उठा ले |
  • घुटने को दृढ़ता से भुजाओं के ऊपरी भाग पर टिका कर दोनों हाथों पर अपना संतुलन बनाए |
  • अब पंजों को मिला ले |
  • नासिक ग्रह पर दृष्टि केंद्रित करें |
  • जब तक आप आराम पूर्वक रुक सकते हैं रुके अपनी अंतिम स्थिति में रुके हैं धीरे-धीरे पंजों को नीचे जमीन पर लाएं |
  • अंतिम स्थिति में कुछ समय के लिए रहना हो | तो श्वास अंदर रोक ले | यदि लंबे समय तक रुकना हो | तो सामान्य श्वसन करें |
  • अंतिम स्थिति में लौटते समय श्वास अंदर ही रोक |

 बकासन के फायदे- bakasana benefits in Hindi:

यह आसन तंत्रिका तंत्र को संतुलित करता है | भुजाओं और कलाइयों को मजबूत बनाता है तथा शारीरिक संतुलन का विकास करता है | पेट के सभी अंगों की मालिश अच्छे तरीके से हो जाती है | जिससे हमारा पाचन तंत्र मजबूत होता है | छाती और कंधों को मजबूत करता है |
 
इस आसन को वजन कम करने के लिए सबसे उत्तम आसन माना जाता है | इस आसन को करने से भूख अधिक लगता है | कब्ज और अपच जैसे रोग दूर होते हैं | यह आसन डायरिया, मधुमेह, एसिडिटी और अनचाहे वायु विकारों से भी छुटकारा दिलाता है |
 
इस आसन को करने से रीढ़ में लचीलापन आता है | और उसके दोष दूर हो जाते हैं | इससे बहुत हद तक कमर दर्द भी दूर हो जाता है या आसन फेफड़ा और ह्रदय को भी मजबूत बनाता है ऐशा डॉक्टरों का मानना है |

 सावधानी:

इस आसन का अभ्यास करते समय पेट खाली रहना जरूरी है | इसलिए जितना हो सके इसे सुबह ही करना ठीक रहता है | बकासन करने से रक्त संचार में तीर बता आती है | या रक्त के विकारों को अधिक मात्रा में बाहर निकालता है |
 
जो शुद्धिकरण प्रक्रिया का एक आवश्यक अंग है | इसलिए कोई भी विपरीत आसन करने के तुरंत बाद बकासना नहीं करना चाहिए | इससे रक्त संबंधी विकारों के मस्तिष्क की ओर चले जाने की आशंका रहती है | बकसना का अभ्यास सब आसनों के अंत में करना उपयुक्त होता है |
 
बकासन का अभ्यास उच्च रक्तचाप, हृदयरोग, हर्निया, गर्भवती महिला, मासिक चक्र के दौरान शारीरिक कमजोरी में या किसी प्रकार की बीमारी आदि में ना करें | बकासन संतुलन का आसन है अतः बहुत धीरे संभलकर गद्दे के ऊपर ही करें ताकि फिसलने पर शरीर को चोट ना लगे | कोई भी पीड़ा या दर्द हो तो आसन रोककर विश्राम कर ले |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

ऐसे फैट को कम कर बनाए फिटनेस – fat diet in Hindi

फैट डाइट - fat diet in Hindi  अक्सर फैट कम करने के लिए हम गलत डायट या उपायों...

कहीं जीवन भर का दर्द ना बन जाए स्पॉन्डिलाइटिस – spondylitis in Hindi

स्पॉन्डिलाइटिस - spondylitis in Hindi spondylitis - आज वर्किंग प्रोफेशनल एक आम समस्या से पीड़ित देखे जा रहे...

सोशल डिस्तांसिंग से अधिक कारगर मास्क | Social Distancing |

Social Distancing - कोरोना वायरस से बचाव के लिए सरकार ने सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है. अब भी...

बचे मलेरिया के डंक से – malaria in Hindi

मलेरिया - about malaria in Hindi malaria in Hindi - गर्मी बढ़ने के साथ ही मच्छरों का प्रकोप...

रखें अपनी सांसों का ख्याल – asthma in Hindi – othershealth

अस्थमा - about asthma in Hindi डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार पूरे विश्व में करीब 25 करोड लोग...